गूगल ने कहा वह प्ले स्टोर से नहीं हटाएगा सऊदी सरकार का ऐप, जो करता है महिलाओं की ट्रैकिंग

  • Posted on: 10 March 2019
  • By: admin
वॉशिंगटन। गूगल ने सऊदी अरब सरकार के बनाए गए उस ऐप को अपने प्ले स्टोर से हटाने से इंकार कर दिया है। कंपनी का दावा है कि ऐप उनके प्ले स्टोर की पॉलिसी का उल्लंघन नहीं करता है। बिजनेस इंसाइडर की रिपोर्ट के अनुसार, टेक कंपनी ने ऑफिस ऑफ कैलिफोर्निया डेमोक्रेट रिप्रेंजन्टेटिव जैकी स्पाइर को बताया कि यह ऐप कंपनी की सेवा शर्तों का उल्लंघन नहीं करता है।
जैकी ने गूगल के जवाब को बेहद असंतोषजनक करार दिया। वहीं, ऐपल की तरफ से इस बारे में अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है। बताते चलें कि अमेरिका के रिप्रजेन्टेटिव जैकी, इल्हान ओमर, राशिदा तलाबी सहित अन्य 11 लोगों ने ऐपल और गूगल से कहा था कि इस ऐप को तुरंत स्टोर से हटा देना चाहिए।
गौरतलब है कि सऊदी अरब में वेब डेवलपर्स ने स्मार्टफोन यूजर्स के लिए एक ऐसा ऐप बनाया है, जो पत्नियों और बेटियों की जासूसी करेगा। इस ऐप के जरिये पुरुषों को पता चल जाता है कि उनकी पत्नी और बेटियां कहां-कहां जा रही हैं और क्या कर रही हैं।
इस ऐप का नाम अब्शर है, जो गूगल प्ले स्टोर और ऐपल के स्टोर पर मौजूद है। यह ऐप स्मार्टफोन की मदद से बताएगा कि घर की महिलाएं कहां जा रही हैं और किस से मिल रही हैं। इतना ही नहीं अगर घर की महिलाएं एयरपोर्ट पर जाकर अपने पासपोर्ट का इस्तेमाल करती हैं, तो इसकी जानकारी घर में मौजूद पुरुष को हो जाएगी, ऐसे में पुरुष चाहे तो महिला को एयरपोर्ट पर ही रोक सकते हैं।
लोग इस ऐप का विरोध कर रहे हैं और कह रहे हैं कि यह ऐप महिलाओं की आजादी छीन रहा है। लिहाजा, गूगल और ऐपल पर भारी दबाव था कि वे इस ऐप को अपने स्टोर से हटाएं। यहां तक कि अमेरिका के सीनेटर रॉन वायडेन ने ऐपल के ष्टश्वह्र टिम कुक और गूगल के ष्टश्वह्र सुंदर पिचाई को इस ऐप को हटाने के लिए पत्र भी लिखा था।
ऐप को सऊदी सरकार के इशारे पर साल 2018 में बनाया गया था। ऐप को करीब 10 लाख से भी ज्यादा लोगों ने गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया है। दरअसल, सऊदी अरब में अप्रैल 2018 में एक नियम बनाया गया, जिसमें कहा गया कि पति न तो पत्नी का मोबाइल चेक कर सकता है और न ही पत्नी पति का मोबाइल चेक कर सकती है।
ऐसा करने के दोषी पाए जाने पर 86 लाख रुपए का हर्जाना और एक साल की जेल की सजा का प्रावधान किया गया था। इस नियम के बनाए जाने के बाद ऐप को बनाया गया था।
Category: